क्या बकरी का दूध डेंगू की बीमारी को ठीक करता है? Why is goat milk beneficial in dengue?


https://healthdear.com/wp-content/uploads/2020/01/क्या-डेंगू-के-मरीज-के-लिए-बकरी-का-दूध-अच्छा-है.png

Is goat milk good in dengue? क्या डेंगू में बकरी का दूध पीना अच्छा है?

मॉनसून के दौरान डेंगू महामारी की तरह फैलता है।  हालांकि डेंगू से बचने के लिए सभी को सतर्क रहना चाहिए, लेकिन अगर किसी को डेंगू हो जाए, तो कहा जाता है की बकरी का दूध  बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है।

ये तो हम सब समझते है की डेंगू बुखार में ब्लड प्लेटलेट की कमी हो जाती है, ओर ऐसे मे बकरी के दूध  का सेवन एक आसान और प्रभावी उपाय माना जाता है। क्योंकि बकरी के दूध में सेलेनियम होता है जो शरीर में ब्लड प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए जाना जाता है।

लेकिन क्या ये पूरी सचाई है? आइए आजानते है की क्या वाकई मे गोट मिल्क यानी बकरी का दूध  डेंगू का इलाज कर सकता है या नहीं | ओर साथ ही देखेगे बकरी के दूध के कुछ अद्भुत फायदे|

प्राचीन आयुर्वेदिक ग्रंथों में पशुओं की प्रजातियों के आधार पर विभिन्न प्रकार के दूध का वर्णन किया गया है जैसे गाय, भैंस, बकरी, भेड़, ऊँट, हाथी, गधा, घोड़ा और मानव का दूध। प्रत्येक में अलग-अलग गुण का व्याख्यान  किया गया है और उनका इस्तेयमल स्थिति के अनुसार किया जाता है।

क्या वाकई मे बकरी का दूध डेंगू के लिए अच्छा है? Is Goat Milk Really Good for Dengue Patients?

आयुर्वेद में, डेंगू बुखार के लिए ख़ासकर

  • गिलोय
  • पपीते के पत्ते
  • एलोवेरा का रस 
  • बकरी का दूध देने को कहा जाता है

यही नही कुछ डॉक्टर्स भी बकरी का दूध देने को कहते है ओर कुछ केसस (cases) मे बकरी के दूध का सेवन करने से प्लेट्लेट काउंट  बढ़ाने मे भी सहायता मिलती है| लेकिन मैं आपको यहा बता दूं की ऐसा माना जाता है की बकरी का दूध प्लेटलेट काउंट बढ़ाने में मदद करता है, लेकिन इस बात को सही साबित करने के लिए कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है|

आप डेंगू  मे गाय के दूध की जगह बकरी का दूध दे सकते है, लेकिन इस के अलावा सही डाइट और डॉक्टर की सलाह बहुत ज़्यादा ज़रूरी है|

आइए अब देखते है कैसे पीना है बकरी का दूध? How to Drink Goat Milk in Dengue?

आपको प्रतिदिन 1 से 2 बार 1- 1 कप बकरी का दूध पीना चाहिए  (ज़रूरी है की आप बकरी के दूध को पहले उबाल कर ठंडा कर ले फिर इसका सेवन करे)|अगर आप कच्चा बकरी का दूध पी रहे है तो ये सुनिचीत करे की वह साफ ओर हेल्दी बकरी का ही है| वरना बकरी के दूध मे ऐसे   बैक्टीरिया होते है जो फायदे की जगह नुकसान भी कर सकते है|

ऐसा माना जाता है की बकरी का दूध प्लेटलेट काउंट बढ़ाने में मदद करता है, लेकिन विश्वास स्थापित करने के लिए कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है| इसलिए  डेंगू के लिए बकरी का दूध पीने से पहले डॉक्टर से बात ज़रूर करे|

इसके साथ-साथ पपीते की पत्तियों का रस डेंगू के इलाज में मददगार है, नीम, ताज़ी धनिया के पत्ते और तुलसी को डेंगू बुखार को कम करने के लिए टॉनिक के रूप में भी दिया जा सकता है | साथ ही शरीर को हाइड्रेटेड (hydrated) रखने और तरल पदार्थ की कमी को दूर करने के लिए जितना संभव हो उतना पानी पिएं।

डेंगू के दौरान ख़ासकर  शरीर को ठीक से हाइड्रेटेड रखने से सिर दर्द और मांसपेशियों में ऐंठन जैसे लक्षण को कम किया जा सकता है साथ ही यह शरीर के तापमान को भी कम रखेगा| ज़रूरी है की आप एक बॅलेन्स्ड डाइट (balanced diet) ले| डेंगू मरीज़ की डाइट मे कौन से खाद पदार्थ शामिल करने है इसके लिए आप हमारा वीडियो “ डेंगू के मरीजों को क्या खाना चाहिए'” देखिए|

डेंगू  मे बकरी का दूध पीने के  फायदे | What are the Health Benefits of Drinking Goat Milk in Dengue?

हेल्दी लाइफस्टाइल (Healthy Lifestyle) में दूध  बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। क्योंकि दूध कैल्शियम, प्रोटीन, पोटैशियम और विटामिन डी का एक समृद्धि स्रोत होता है। ज्यादातर भारतीय लोग, गाय या भैंस के दूध को पीना पसंद करते हैं और अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में इसी का इस्तेमाल करते हैं। 

लेकिन शायद ही सबको यह मालूम हो की बकरी का दूध भी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है।आइए समझते है की आखिर क्यों बकरी का दूध डेंगू के मरीज़ के लिए अच्छा माना जाता है:

  • यह आसानी से पच जाता है|
  • यह शरीर को हाइड्रेट करता है और शरीर के द्रव संतुलन को मेनटेन (maintain) रखता है।
  • डेंगू बुखार की मुख्य जटिलताओं में ख़ासकर सेलेनियम की कमी और प्लेटलेट्स (platelet) में कमी है। सेलेनियम  बकरी के दूध का मुख्य माइक्रो न्यूट्रिएंट्स (micro-nutrient) होता है। बकरी और गाय के दूध की तुलना करने पर यह देखा गया  की बकरी के दूध में गाय के दूध की तुलना में लगभग 35% अधिक सेलेनियम होता है|
  • बकरी के दूध में विटामिन और मिनरल्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो हमारे इम्युन सिस्टम (immune system) को मजबूत बनाकर  बीमारी से लड़ने में बहुत मदद करता है।
  • इसमें मोजूद विटामिन बी6, बी12, विटामिन डी, फोलिक एसिड और प्रोटीन शरीर में प्लेटलेट्स की कमी नहीं होने देता हैं। 
  • डेंगू बुखार के इलाज के लिए बकरी का दूध इसलिए सहायक माना जाता है क्योंकि यह सीधे प्रतिरक्षा प्रणाली को नियंत्रित करता है, ऊर्जा प्रदान करता है, शरीर को हाइड्रेट रखने मे  मदद करता है और आवश्यक पोषक तत्वों की आपूर्ति करता है।
  • उच्च विटामिन A की उपस्थिति के कारण बकरी का दूध ज़्यादा वाइट(white) होता है। विटामिन ए प्रतिरक्षा और एंटीबॉडी प्रतिक्रियाओं को प्रभावित करता है।
  • बकरी के दूध में पाया जाने वाला प्रोटीन, गाय या भैंस के दूध में मौजूद प्रोटीन की तुलना में बेहद हल्का होता है।
  • जहां गाय के दूध का पाचन लगभग 8 घंटे में होता है, वहीं बकरी का दूध पचने में महज 20 मिनट का समय लेता है।

बकरी के दूध के अन्य फायदे | Other Health Benefits of Goat Milk:

  • बकरी से प्राप्त दूध से हृदय रोग, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रोगों और एलर्जी की रोकथाम में सहायता मिलती है| 
  • साथ ही यह आपको पाचन संबंधित परेशानीय, अस्थमा,  अल्सर और एलर्जी से भी दूर रखता है|
  • एक अन्य शोध के अनुसार किसी बच्चे को बकरी का दूध पिलाने पर उसका  इम्यून सिस्टम (immune system) बहुत स्ट्रॉंग (strong) हो जाता है | जिसके चलते उसके बीमार होने की संभावना नहीं के बराबर होती है। हालांकि 1 साल से छोटे बच्चों को बकरी का दूध नहीं पिलाना चाहिए, क्यों‍कि इससे उन्हें एलर्जी का खतरा होता है।

डेंगू के लिए कोई विशिष्ट दवा नहीं है।  किसी भी अध्ययन ने बकरी के दूध की प्रभावकारिता को साबित नहीं किया है। डेंगू के प्रत्येक रोगी को अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं होती है और यदि कोई रोगी ठीक से खा सकता है और उसका प्लेटलेट काउंट 80,000-100,000 है, तो वह घर पर ही ठीक हो सकता है। 

इसलिए ये कहना ग़लत नही होगा की बकरी का दूध डेंगू से बचने के लिए एक अच्छा ऑप्षन (option) हो सकता है। हरे पौधों और पत्ति‍यों को आहार के रूप में ग्रहण करने की वजह से बकरी के  दूध में भी औषधीय गुण होते हैं, और यह कई तरह की बीमारियों को दूर करने में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यही कारण है कि जो व्यक्ति नियमित तौर पर बकरी का दूध पीता है, उसे बुखार जैसी समस्याएं नहीं होती क्योंकि उसका इम्यूनिटी सिस्टम बहुत स्ट्रॉंग रहता है| 

तो यह कहना ग़लत नही है की ओवरॉल  अच्छी हेल्थ के लिए बकरी का दूध फायदेमंदहोता है।  हालांकि, एलोपैथिक डॉक्टर डेंगू के इलाज के लिए बकरी के दूध को  बहुत प्रभावी नही मानते है।

मैक्स हॉस्पिटल के वरिष्ठ सलाहकार, का कहना है की वे  डेंगू के इलाज के लिए केवल बकरी के दूध की सलाह नही देते है| तो यही बेहतर है की आप  डेंगू के मरीज को दिन मे दो बार तक बकरी का दूध दे, लेकिन इसके साथ सही डाइट, पूरा आराम ओर खूब तरल पदार्थ देना ना भूले|





Support & Visit my Official Website HealthDear




Posted from my blog with SteemPress : https://healthdear.com/is-goat-milk-good-in-dengue-hindi/

Comments 2


According to the Bible, How should a Christian deal with peer pressure?



Comment what you understand of our Youtube Video to receive our full votes. We have 30,000 #SteemPower. It's our little way to Thank you, our beloved friend.

Check our Discord Chat
Join our Official Community: https://beta.steemit.com/trending/hive-182074

07.01.2020 14:56
1